Letter in Hindi : Formal Letter & Informal Letter { औपचारिक व अनौपचारिक पत्र की पूरी जानकारी }

हेलो दोस्तों आज हम औपचारिक व अनौपचारिक पत्र { formal Letter & Informal Letter } लेखन प्रारूप के बारे में जानेंगे जैसे की formal LetterInformal Letter क्या होता हैं, इन Letter का Format कैसा होता हैं जिसकी जानकारी आपको हिंदी में  मिलेगी ? दोस्तों तो देर किस बात की चलिए शुरू करते है। 😎

Letter in Hindi
Letter in Hindi



Letter in Hindi :- 


Letter in Hindi - जैसे की सभी को पता होगा की letter को हिंदी में पत्र कहा जाता है जो की हमें विद्यालय से ही सिखाया जाता है। letter लिखने का भी एक तरीका होता है जिसे हम फॉर्मल लेटर और इनफॉर्मल लेटर के नाम से जानते है लेकिन लोगो को जानकारी न होने के कारण वह भूल जाते है की किसको ? फॉर्मल लेटर लिखे और किसको इनफॉर्मल लेटर लिखे ? इसलिए इस आर्टिकल में आपको इससे जुड़ी सारी जानकारी मिलेगी। 

औपचारिक पत्र क्या होता है ? What is Formal Letter in Hindi


formal Letter को Hindi में औपचारिक पत्र कहा जाता है और सामान्य भाषा में कार्यालयी पत्र भी कहते है फॉर्मल लेटर किसी कार्यालय, संस्थान आदि के अध्यक्ष को लिखे जाते है। इन पत्रों में केवल जरुरी बाते ही लिखी जाती है। 

औपचारिक पत्र प्रारूप कैसा होता हैं ? formal Letter Format in Hindi


formal Letter Format in Hindi - दोस्तों पत्र लेखन एक कला है हर व्यक्ति अपने जीवन में एक पत्र अवश्य लिखता है ।  Letter भावों एवं विचारों की प्रस्तुति का एक सरल माध्यम है। दोस्तों फॉर्मल लेटर लिखने के कई अंग है जो की आपको पता होना चाहिए। फॉर्मल लेटर फॉर्मेट इन हिंदी जो की इस प्रकार है - 

1. पत्र प्रेषक का पता - { Self Address }

2. पत्र भेजने की तिथि

3. संबोधन व अभिवादन

4. विषय 

5. पत्र का अंतिम भाग

6.  पत्र पाने वाले का पता

👆 यह फॉर्मल लेटर फॉर्मेट के महत्वपूर्ण अंग है हम जो भी पत्र लिखेंगे वो इस मेथड के द्वारा लिखेंगे तो चलिए अब फॉर्मल लेटर के Example के द्वारा समझते है। 

Formal Letter Example :-


प्रतिष्ठा में,


श्रीमान स्वास्थ्य अधिकारी महोदय 
दिल्ली नगर निगम - स्वास्थ्य विभाग 
दिल्ली - xyz 


विषय - मोहल्ले में सफाई के लिए शिकायत 

महोदय ,

मैं आपका ध्यान एक्स वाई जेड की गली नंबर 4  की गंदगी की ओर आकर्षित करते हुए अनुरोध करता हो की यहां पर सफाई कर्मचारी का व्यवहार उपेक्षा पूर्ण रहता है जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे रहते हैं गली के दोनों ओर की नालियाँ गंदे पानी से भरी रहती है उनकी सफाई कोई नहीं करता है जिससे यत्र तत्र मक्खियों व मच्छरों का साम्राज्य का छाया रहता है चारो ओर दुर्गन्धमय वातावरण रहता है इस परिस्थिति में किसी भी समय मोहल्ले में भयानक बीमारी फैलने की संभावना रहती है। 

अत महोदय से अनुरोध है कि आप मोहल्ले का दौरा कर कर्मचारियों को पूर्ण सफाई का आदेश दे तथा लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही करें। 

अनौपचारिक पत्र क्या होता है ? What is Informal Letter in Hindi


Informal Letter जिसे हिंदी में अनौपचारिक पत्र कहते है इसके साथ ही इन्हे व्यक्तिगत पत्र भी कहा जाता है इसके साथ ही इन्हे व्यक्तिगत पत्र भी कहा जाता है Informal Letter में अपने मन अनुसार कैसे भी भाषा या कुछ भी पूछ सकते है इस प्रकार के पत्र व्यक्तिगत संबंधों के आधार किसी भी व्यक्ति आदि को लिखे जा सकते हैं।

1. पारिवारिक पत्र - परिवार के सदस्य या रिश्तेदारों को। 

2. सामाजिक पत्र - जागरण, पुरस्कार समारोह आदि। 

अनौपचारिक पत्र प्रारूप कैसा होता हैं? Informal Letter Format in Hindi


इनफॉर्मल लेटर अपने सगे - संबंधियों को लिखा जाता है जिसको लिखने का भी एक स्टाइल होता है जिसे हम इनफॉर्मल लेटर फॉर्मेट कहते है। दोस्तों इनफॉर्मल लेटर का फॉर्मेट कुछ इस प्रकार होता है। 

1. बायीं तरफ ओर स्थान का नाम , दिनांक लिखना होता है। 

2. रिश्तेदारों के लिए पुज्य, मान्यवर आदि  शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। 

3. अंत में आपका प्यारा Lk Thinker अपना नाम लिखकर समाप्त करना चाहिए। 



👆 यह इनफॉर्मल लेटर फॉर्मेट के महत्वपूर्ण अंग है दोस्तों पत्र इस प्रक्रिया का प्रयोग करते हुए लिखेंगे।  तो चलिए अब इनफॉर्मल लेटर के Example के द्वारा समझते है। 


Example - मित्र को पत्र 👇

XYZ - पत्र भेजने वाले का पता

03/01/2021 - वर्तमान दिनांक

प्रिय मित्र आकाश   -     

आपका पत्र प्राप्त हुआ पढ़कर अत्यंत हर्ष हुआ आपने मकर सक्रांति के होने वाले अवकाश के भावी कार्यक्रम के बारे में पूछा था इस वर्ष में चाहता हूं कि मकर सक्रांति के अवकाश का कार्यक्रम आप और हम मिलकर बनाएं इस पर आप मेरी ओर से सादर आमंत्रित हैं आप छुट्टी घोषित होते ही हमारे घर पहुंच जाएं फिर उसके लिए कार्यक्रम तैयार कर लेंगे जिससे कि हम मकर सक्रांति के अवकाश का सदुपयोग कर पाएंगे आशा है आप मेरे इस प्रस्ताव को स्वीकार अवश्य करोगे। 

धन्यवाद 

आपका मित्र
Lk Thinker


निष्कर्ष

मैं आशा करता हूँ कि, आज की इस पोस्ट को पढ़कर आपकों formal लेटर और Informal Letter Format in Hindi { पत्र लेखन हिन्दी प्रारूप } से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर आपको इसमें कुछ भी समस्या है तो कमेंट जरूर करे। 

यह भी पढ़े -

No comments:

please comment if u like the post

Powered by Blogger.